स्वस्थ मस्तिष्क और शरीर के लिए वरदान – ब्राह्मी

स्वस्थ मस्तिष्क और शरीर के लिए वरदान – ब्राह्मी

स्वस्थ मस्तिष्क और शरीर के लिए वरदान – ब्राह्मी

आयुर्वेद में हर तरह की बीमारी का संपूर्ण ईलाज मौजूद है। प्राकृतिक औषधियों के प्रयोग से कई तरह के असाध्य रोगों को पूरी तरह ठीक करने में आयुर्वेदिक औषधीय पद्धति ने अच्छी सफलता पाई है। 

इन्हीं प्राकृतिक औषधियों में से एक औषधि है ब्राह्मी जिसे ‘ब्रेन बूस्टर’ के नाम से भी जाना जाता है। फूलों सहित यह पौधा गुणकारी औषधि के रूप में प्रयोग में लाया जाता है। याद्दाश्त बढ़ाने बढ़ने के लिए सबसे बेहतरीन प्राकृतिक औषधि, ब्राह्मी, मस्तिष्क के शॉर्ट टर्म मेमोरी और लांग टर्म मेमोरी को बेहतर बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

आइये जानते हैं कुदरत का वरदान माने जाने वाली इस जड़ी-बूटी के कई अन्य फायदों के बारे में:

ब्राह्मी के फायदे

स्मरणशक्ति बढ़ाने में मददगार – ब्राह्मी के सबसे बेशकीमती लाभ स्मृति, एकाग्रता और दिमाग को उत्तेजित करने की क्षमता है। 

अल्जाइमर के मरीज़ों के लिए फायदेमंद – ब्राह्मी में एमिलॉइड नाम का कंपाउंड पाया जाता है जो अल्जाइमर्स की बीमारी में काफी फायदेमंद होता है। साथ ही यह अल्जाइमर की वजह से दिमाग को होने वाले नुकसान से बचाने में भी मदद करता है।

तनाव को काम करे – ब्राह्मी कोर्टिसोल के स्तर को कम करने में मदद करता है, जो कि एक स्ट्रेस हार्मोन है। इसका प्रयोग तनाव और चिंता को कम करने के लिए किया जाता है। यह तनाव के प्रभावों को खत्म करने का काम करता है। 

शरीर को बनाए स्वस्थ – ब्राह्मी में भरपूर मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है जो कि एक स्वस्थ जीवन के लिए जरूरी होता है। यह शरीर के उन तत्वों को जड़ से खत्म करने का काम करता है जो कैंसर सेल्स को बढ़ने में मदद करते हैं।

पाचन तंत्र को बनाए स्वस्थ – ब्राह्मी के नियमित सेवन से पाचन संबंधी दिक्कतें भी दूर होती हैं, और  पाचन तंत्र भी मजबूत होता है। 

ब्लड शुगर लेवल को रेगुलेट करे – शरीर में ब्लड शुगर लेवल को सही तरीके से रेगुलेट करने में भी ब्राह्मी अहम योगदान देता है। इसके साथ ही साथ यह हाइपोग्लिसीमिया के लक्षणों से भी आराम दिलाने में सहायक है।

त्वचा और बालों के लिए फायदेमंद – बालों में डैंड्रफ या फिर खुजली की समस्या भी ब्राह्मी के प्रयोग से ठीक हो सकती है। तमाम तरह की सौंदर्य समस्याओं में ब्राह्मी का प्रयोग औषधि के रूप में किया जाता है। इसमें मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट्स शरीर से टॉक्सिंस को बाहर निकालने का काम करते हैं।

ब्राह्मी का प्रयोग करने के तरीके 

ब्राह्मी के उपयोग का असली कारण मानव स्वास्थ्य पर हो रहे इसका अच्छा प्रभाव है। ब्राह्मी सामान्यतः एक ताजा सलाद के रूप में प्रयोग की जाती है। लेकिन इस जड़ी बूटी को सुखाकर, पीसकर और किसी भी अन्य रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। इसकी पत्तियों को चबाना एक विटामिन सप्लीमेंट की तरह टॉनिक का काम करता है।

  • ब्राह्मी का तेल त्वचा पर लगाने से त्वचा स्वस्थ बनती है। इस तेल की सिर में भी मसाज की जाती है जिससे दिमाग तेज़ होता है। 
  • ब्राह्मी का पेस्ट बनाकर उसे त्वचा पर लगाया जा सकता है। इससे त्वचा स्वस्थ रहेगी। 
  • ब्राह्मी टैबलेट के रूप में भी खाई जाती है।
  • ब्राह्मी का पाउडर कई स्वास्थ लाभ प्रदान करता है।

Leave a Comment

*Required fields Please validate the required fields

*

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.